NCERT Solutions 4th Hindi Chapter 1-मन के भोले-भाले बादल 

अध्याय 1– मन के भोले-भाले बादल

Chapter 2-Man ke bhole-bhale badal

कक्षा 4 हिन्दी- रिमझिम

NCERT Solutions 4th Hindi Chapter 1-मन के भोले-भाले बादल (Man ke bhole-bhale badal)    यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें।  विद्यार्थियों की प्रासंगिकआवश्यकताओं के अनुसार परिवर्तन आवश्यक है। पुस्तकों में बच्चों के साथ विचार-विमर्श के विभिन्न अवसर है। उनका प्रयोग करना  समझ के लिए उपयोगी होगा। चर्चा का प्रयोग अवश्य करें। 

पृष्ठ संख्या 3

तुम्हरी समझ से

कभी-कभी जिद्दी बन करके

बाढ़ नदी-नालों में लाते

प्रश्न (क) बादल नदी-नालों में बाढ़ कैसे लाते होंगे?

उत्तर (क) बादलों के बहुत बरसने से नदियाँ भर जाती हैं। उनका पानी किनारों से बाहर बहने लगता है। उसे ही बाड़ कहते हैं।

नहीं किसी की सुनते कुछ भी

ढोकल-ढोल बजाते बादल

प्रश्न  (ख) बादल ढोल कैसे बजाते होंगे?

उत्तर (ख) बादल आपस में टकरा कर गरजते हैं। उनकी गर्जन से ऐसा लगता है जैसे ढोल बज रहें हो।

कुछ तो लगते तूफ़ानी

कुछ रह-रह करते शैतानी

प्रश्न  (ग) बादल कैसी शैतानियाँ करते होंगे?

उत्तर (ग) बादल अपना आकार बदलते रहते हैं। कभी यहाँ बरसते कभी वहाँ। कभी-कभी तो बरसते भी नहीं। काले कभी सफेद हो जाते हैं। इस प्रकार वो शैतानियाँ करते होंगे।

उत्तर-

कैसा

कौन

सूरज-सी

चमकीली

थाली

चंदा-सा

गोल

चेहरा

हाथी-सा

भारी

बक्सा

जोकर-सा

नटखट

बच्चा

परियों-सा

सुन्दर

चेहरा

गुब्बारे-सा

फूला

पेट

ढोलक-सा बजता

नगाड़ा

पृष्ठ संख्या 4

कविता से आगे

प्रश्न (क) तूफ़ान क्या होता है? बादलों को तूफानी क्यों कहा गया है?

उत्तर (क) जब तेज़ हवा चलती है। बिजली कड़कती है। बादल गरजते-बरसते हैं। तो उसे तूफ़ान कहते हैं। इसीलिए बादलों को तूफ़ानी कहा गया है।

प्रश्न (ख) साल के किन-किन महीनों से ज्यादा बादल छाते हैं?

उत्तर (ख) हर साल जून और जुलाई में ज्यादा बादल छाते हैं।

प्रश्न (ग) कविता में ‘काले’ बादलों की बात की गई हैक्या बादल सचमुच काले होते हैं?

उत्तर (ग) नहीं, बादल काले नहीं होते। वे काले दिखते हैं।

प्रश्न (घ) कक्षा में बातचीत करो और बताओ की बादल किन-किन रंगों के होते हैं

उत्तर (घ) बादल सफेद रंग के होते हैं। सूरज की किरणों के कारण वे काले, भूरे, संतरी और लाल दिखते हैं।

कैसे-कैसे बादल

प्रशन (क) तरह-तरह के बादलों के चित्र बनाओ

काले-काले डरावने

गुब्बारे-से गालों वाले

हल्के-फुल्के सुहाने

उत्तर (क) विद्यार्थी अपने अनुभवों के अनुसार चित्र बनाएँ। कक्षा में सभी साथियों को दिखाएँ। चर्चा करें बादलों के रंगों और आकार पर।

पृष्ठ संख्या 5

प्रशन  (ख) कविता में बादलों को ‘भोला’ कहा गया है।  इसके अलावा बादलों के लिए और कौन-कौन से शब्दों का इस्तेमाल किया गया है? नीचे लिखे अधूरे शब्दों को पूरा करो

म…

जि…
शै …

तू …

उत्तर  (ख)

तवाले

जिद्दी
शैतानी

तूफ़ानी

बारिश की आवाजें

कुछ अपने थैलों से चुपके

झर-झर-झर बरसाते पानी

पानी के बरसने की आवाज़ है झर–झर–झर!

प्रश्न (क) पानी बरसने की कुछ और आवाज़ें लिखो

उत्तर (क) पानी बरसने की कुछ और आवाज़ें-

तड़-तड़-तड़

टिप-टिप-टिप

टप-टप-टप

टपक-टपक-टपक

तड़ातड़-तड़ातड़-तड़ातड़

छल-छल-छल

कैसे-कैसे पेड़

बादलों की तरह पेड़ भी अलग – अलग आकार के होते हैं। कोई बरगद- सा फैला हुआ और कोई नारियल के पेड़ जैसा ऊँचा और सीधा।

प्रश्न (क) अपने आस-पास अलग-अलग तरह के पेड़ देखोतुम्हे उनमें कौन-कौन से आकार दिखाई देते हैं? सब मिलकर पेड़ों पर एक कविता भी तैयार करो |

उत्तर (क) मेरे आस-पास पीपल, बरगद, चील, गुलमोहर, तुनी, ब्यूल, अखरोट, अमरुद, शहतूत, के पेड़ हैं। वो अलग-अलग आकार के हैं। कोई कम तो कोई बहुत ऊँचा। कोई पतला सा तो कोई फैला हुआ। कोई शंकु सा तो कोई गोलाई लिए हुए।

विद्यार्थी पेड़ पर एक कविता बनाने का प्रयास करें। शिक्षक उनका मार्गदर्शन कर सकता है। यह कार्य समूह में किया जा सकता है। सबकी कविता गतिविधि की जा सकती है। इसके लिए पहले कुछ तुकांत भी तय किये जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-NCERT Solutions 3rd Hindi Chapter 2-शेखीबाज़ मक्खी और

NCERT Solutions 3rd Hindi Chapter 1-कक्कू

NCERT Solutions 4th Hindi Chapter 1-मन के भोले-भाले बादल (Man ke bhole-bhale badal)    यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें।  विद्यार्थियों की प्रासंगिकआवश्यकताओं के अनुसार परिवर्तन आवश्यक है। पुस्तकों में बच्चों के साथ विचार-विमर्श के विभिन्न अवसर है। उनका प्रयोग करना  समझ के लिए उपयोगी होगा। चर्चा का प्रयोग अवश्य करें। 

 

2 thoughts on “NCERT Solutions 4th Hindi Chapter 1-मन के भोले-भाले बादल ”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *