NCERT Solutions 5th EVS Chapter 2-कहानी सँपेरों की

Share

 

अध्याय 2 कहानी सँपेरों की

Chapter 2- Kahani Sanperon kee

NCERT Solutions 5th EVS Chapter 2-कहानी सँपेरों की

Kahani Sanperon kee यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें।

पृष्ठ 17

प्रश्न- क्या तुमने कभी किसी को बीन बजाते देखा है? कहाँ?

उत्तर- हाँ, मैंने सँपेरे को बीन बजाते देखा है। मैंने उसे अपने गाँव/शहर में देखा है ।

प्रश्न- क्या तुमने कभी साँप देखा है? कहाँ?

उत्तर- हाँ, मैंने साँप देखा है। सँपेरों के पास, घर के नज़दीक और अपने खेतों में।

प्रश्न- क्या तुम्हें उससे डर लगा? क्यों?

उत्तर- हाँ, साँप को देख कर मुझे डर लगा था। क्योंकि ज़हरीले साँप के काटने से इंसान मर सकता है।

प्रश्न- तुम्हें क्या लगता है, सभी साँप ज़हरीले होते हैं?

उत्तर- नहीं, सभी साँप ज़हरीले नहीं होते । कुछ ही साँप ज़हरीले होते हैं।

प्रश्न- तुमने पिछले पाठ में पढ़ा कि साँप के बाहरी कान नहीं होते। सोचो, क्या वह बीन की धुन सुन पाता होगा या फिर बीन के हिलने से ही वह नाचता होगा?

उत्तर- साँप ज़मीन पर हुए कंपन को सुन पाता है । बीन की आवाज नहीं सुन पाता सिर्फ कंपन को महसूस कर पाता होगा़ । वह बीन के हिलने के साथ अपना सिर हिलाता है । हम उसे ही नाचना समझ लेते हैं।

पृष्ठ 19

प्रश्न- क्या तुमने कभी जानवरों के खेल या नाच होते देखे हैं? जैसे- सरकस में, सड़क पर, पार्क में।
कब और कहाँ देखा?

उत्तर- हाँ, मैंने कुछ साल/ महीने/ दिन पहले सरकस में जानवरों के खेल या नाच होते देखे हैं।

कई बार मदारी या सँपेरे हमारे गाँव/ शहर में भी आते हैं।

किस जानवर का खेल दिखा?

उत्तर- सरकस में हाथी, भालू, घोड़ा और शेर का खेल देखा था। मदारी के पास बंदर तथा सँपेरे के पास साँप देखा था।

प्रश्न- जानवरों के प्रति लोगों का क्या व्यवहार था?

उत्तर- जानवरों के प्रति लोगों का व्यवहार अच्छा था लेकिन जानवरों को खींच-खींच कर मंच तक लाया जाता था। ऐसा लगता था मानो वह करतब करना ही नहीं चाहते थे।

प्रश्न- क्या कोई जानवर को परेशान भी कर रहा था? कैसे?

उत्तर- सरकस देखने आए कुछ लोग जानवरों को चिढ़ा रहे थे । उनका मालिक उन्हें बार-बार करतब करने के लिए विवश कर रहा था। जिससे वे परेशान भी लग रहे थे।

प्रश्न- वह खेल देखकर तुम्हारे दिमाग में किस -किस तरह के सवाल उठे?

उत्तर- वह खेल देखकर मेरे दिमाग में के प्रश्न उठे। जैसे:

1. क्या उन्हें भी यह खेल करके मजा आ रहा होगा?

2. वे इतने लोगों को देखकर कैसा महसूस कर रहे होंगे?

3. उन्होंने वे करतब कैसे सीखे होंगे?

4.तालियाँ बजने पर क्या वे खुश होते होंगे?

5.अगर उन्हें खुला छोड़ दे तो क्या वे वापस आएंगे?

6.हमें इन का खेल देखना क्यों अच्छा लग रहा है?

7.क्या इनको पूरा भोजन मिलता होगा?

8.क्या इनको जंगल की याद नहीं आती होगी?

प्रश्न- मान लो, तुम एक जानवर हो, जो कैद में है । अब तुम इन वाक्यों को पूरा करो।

उत्तर- मुझे डर लगता है जब करतब सिखाने वाला डंडा लेकर आता है।

मेरी इच्छा है कि मैं दोबारा जंगल में जाकर रहूँ।

मैं उदास होता हूँ जब खेल ठीक नहीं होता और सब नाराज़ हो जाते हैं ।

अगर मुझे मौका मिलता तो मैं सब जानवरों को भगाकर जंगल ले जाता।

मुझे यह बिल्कुल भी पसंद नहीं कि मुझे बांधकर रखा जाए।

पृष्ठ 20 और 21

लिखो

प्रश्न- सँपेरों के अलावा और कौन-कौन लोग अपने रोज़ी-रोटी के लिए जानवरों पर निर्भर होते हैं?

उत्तर- सँपेरों के अलावा मदारी बंदर और भालू पर निर्भर रहता है। किसान और गवाले गोबर और दूध के लिए गाय, भैंस, बकरी तथा खेती के लिए बैलों पर निर्भर रहते हैं।

सर्वे- जानवर पालने वालों का

प्रश्न- अपने स्कूल या घर के आस -पास कुछ ऐसे लोगों से बात करो जिन्होंने अपनी रोज़ी-रोटी के लिए कोई जानवर पाला हो । जैसे-ताँगे के लिए घोड़ा, अण्डों के लिए मुर्गियाँ, आदि।
  • कौन सा जानवर है?

उत्तर- गाय ।

  • कितने जानवर पाले हैं?

उत्तर- चार ।

  • क्या जानवरों को रखने के लिए अलग जगह है?

उत्तर- हाँ, पशुशाला ।

  • उनकी देखभाल कौन करता है?

उत्तर- परिवार के सभी सदस्य ।

  • वे क्या खाते हैं?

उत्तर- वे सुखा व हरा घास, पेड़ों की पत्तियाँ, बाज़ार से मिलने वाली फीड, भूसी और बचा हुआ खाना खाते हैं।

  • क्या कभी जानवर बीमार भी पढ़ते हैं? तब पालने वाला क्या करता है?

उत्तर- हाँ, कई बार जानवर बीमार पड़ जाते हैं। तब पालने वाला उन्हें नज़दीक के पशु चिकित्साल ले जाता है या डॉक्टर को घर पर ही बुला लेता है।

उनकी सफाई और खाने-पीने का विशेष ध्यान रखा जाता है।

  • इसी तरह अपने मन से और प्रश्न भी पूछो

उत्तर 1.क्या उन्हें समय पर चारा और पानी दिया जाता है?

 2. क्या उन्हें कभी खुला भी छोड़ा जाता है?

 3. जंगली जानवरों से उनकी सुरक्षा कैसे की जाती है?

 4. उनके छोटे बछड़ों का क्या किया जाता है?

 5. दूध न देने पर क्या उन्हें घर पर ही रखा जाता है या छोड़ दिया जाता है?

  • अपने इस सर्वे की रिपोर्ट तैयार करो और कक्षा में पढ़कर सुनाओ।

उत्तर- किसी अन्य जानवर के बारे में रिपोर्ट तैयार करो और कक्षा में पढ़ कर सुनाओ।

हम क्या समझे

प्रश्न- सरकार ने कानून बना दिया है कि न तो कोई जंगली जानवरों को पकड़ सकता है और न ही उन्हें अपने पास रख सकता है। तुम्हें क्या लगता है- क्या यह कानून सही है या नहीं? अपने उत्तर का कारण बताओ और लिखो।

उत्तर- जंगली जानवरों को पकड़ना और उन्हें अपने पास रखना कानूनन जुर्म है। मुझे लगता है यह कानून सही है क्योंकि अगर हम इन जानवरों को ठीक ढंग से रखते तो यह नियम कभी न बनता। हम इंसान इन जानवरों को माँस, सींग, हड्डियों और खाल के लिए मारने से भी नहीं कतराते। इस नियम के कारण इन जानवरों की जान कुछ हद तक बच पाएगी। हमें भी ध्यान रखना चाहिए अगर कोई जंगली जानवरों को पकड़े या मारे तो उसकी रिपोर्ट पुलिस में कर देनी चाहिए।

अपनी राय(कमेन्ट) देना न भूलें. DO NOT FORGET TO COMMENT 

 

महत्वपूर्ण सामग्री पढ़ें :- NCERT Solutions 5th EVS Chapter 1-कैसे पहचाना चींटी ने दोस्त को? and

CBSE NCERT Solutions 5th Hindi Chapter 2- फसलों के त्यौहार तथा

NCERT Solutions 5th English Unit-1 Chapter 3-Bamboo Curry

CBSE NCERT  Solutions 5th EVS 

Chapter 2- Kahani Sanperon kee (कहानी सँपेरों की)

यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें। आपके सकारात्मक सुझाव वांछित हैं. 


Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *