NCERT Solutions  Class 3 EVS Chapter 1-डाल-डाल पर ताल-ताल पर

Share

अध्याय 1- डाल-डाल पर ताल-ताल पर

Chapter 1- Dal-dal par tal-tal par

कक्षा – 3 पर्यावरण अध्ययन 

NCERT Solutions  Class 3 EVS Chapter 1-डाल-डाल पर ताल-ताल पर  (Dal-dal par tal-tal par) यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें। – इसमें विद्यार्थी तथा परिस्थितिनुसार बदलाव आवश्यक है। पुस्तकों में विचार-विमर्श तथा चर्चा के लिए बहुत स्थान हैं। कक्षा से बहार जाने तथा समझने के अवसर भी प्रचूर है। उनका प्रयोग अवश्य करें क्योंकि यही उद्देश्य भी है। सिर्फ याद करना और लिखना पर्यावरण को समझने-समझाने का एकमात्र तरीका नहीं हो सकता। यह विषय प्रयोग  मांगता है। जिसे पूरा करना हमारी  जिम्मेदारी है।

पाठ्यपुस्तक से प्रश्न उत्तर

पृष्ठ संख्या 2

प्रशन 1 पूनम ने पेड़ पर कई जानवर देखे। तुम्हें चित्र में पेड़ पर कौन-कौन से जानवर दिखाई दे रहे हैं? उनके नाम लिखो।

उत्तर 1 गौरेय, लंगूर, गिलहरी, कौआ, तितली, कबूतर, मैना

प्रश्न 2 पूनम ने तालाब पर किन-किन जानवरों को देखा? चित्र देखकर उनके नाम लिखो।

उत्तर 2 बकरी, भैंस, मेंढक, बगुला, कछुआ

पृष्ठ संख्या 3

प्रशन 1 तालाब पर दिखे जानवरों का अभिनय (एक्शन) करके दिखाओ। कौन-सा जानवर क्या हरकत करता होगा? जानवरों की अलग-अलग आवाजें भी निकालो।

उत्तर 1 बच्चों से पहले चर्चा करें। उनके मन से पहले संकोच समाप्त करें। इसका एक तरीका यह है कि पहले आप स्वयं करें। फिर उनको साथ जोड़ें। उसके बाद उन्हें अपने आप करने को कहें। अकेले- अकेले न करें तो समूह में करवाएं।

चर्चा करें

यहाँ चलना, रेंगना, उड़ना और तैरना पर थोड़ी-थोड़ी बात होनी चाहिए। बच्चों से पूछ-पूछ कर पता करें वो क्या जानते है। जहाँ गैप लगे वहाँ आप बताएं।

प्रशन 2 तुमने भी बहुत सारे जानवर देखे होंगे। उनमें से कौन-कौन से जानवर –

उत्तर 2

उड़ते हैं तितली तोता मैना
रेंगते हैं साँप छिपकली गिरगिट
चलते हैं बकरी गाय घोड़ा
फुदकते हैं मेंढक खरगोश टिड्डा
पंख वाले हैं मैना कौआ गौरेय
पैर वाले हैं शेर हाथी बैल
पूँछ वाले हैं कुत्ता बिल्ली भैंस

बातचीत करें:

उन जानवरों के बारे  जो  पानी, ज़मीन, पेड़(आकाश) पर रहते हैं। बच्चों से पूछते हुए आगे बढ़ें। यहाँ विभिन्न विशेषताओं के आधार पर वर्गीकरण की थोड़ी बात करें। जैसे जलचर, थलचर, नभचर, उभयचर, मासाहारी, शाकाहारी, सर्वाहारी, चलने, उड़ने, तैरने, रेंगने वाले आदि। इनका सिर्फ जिक्र करें।

पृष्ठ संख्या 4

प्रश्न 1 नीचे दिए चित्रों को देखो। इनमें से जो जानवर तुम्हारे घर में नहीं रहते, उनमें रंग भरो।

उत्तर 1 विद्यार्थियों को यह कार्य स्वयं करने दें। रोचक तरीके से उनकी विशेषताएँ बताएँ। उन्हें घर पर क्यों नहीं रखते? थोड़ी बात करें। फिर आगे बढ़ें।

पृष्ठ संख्या 5

प्रश्न 1 यहाँ कुछ जानवरों के अधूरे चित्र हैं। इन्हें पूरा करो और इनके नाम नीचे लिखो।

उत्तर 1 जानवरों के चित्र विद्यार्थी पूरा करें। पूरा करने के बाद उनसे पूछें कौन सा जानवर है। कहाँ रहता है? क्या खाता होगा? तुम्हें कौन सा पसंद है? क्यों?

मैं कौन हूँ?

प्रशन 1 वर्ग पहेली में मेरा नाम ढूँढ़े और उन पर घेरा  लगाओ। एक उदाहरण दिया गया है।
  1. छत पर बैठकर केला खाऊँ, इधर-उधर मैं कूद लगाऊँ।
  2. दीवारों पर जाल बनाऊँ, जिसमें कीड़ों को फँसाऊँ।
  3. जाग-जाग कर रात बिताऊँ, दिन निकले तो मैं सो जाऊँ।
  4. टर्र-टर्र-टर्र की रट लगाऊँ, फुदक-फुदक पानी में जाऊँ।
  5. बारिश के बाद नज़र मैं आऊँ, पाँव नहीं पर रेंगता जाऊँ।
  6. धीमी चाल से चलता जाऊँ, दौड़ में फिर भी जीत मैं पाऊँ।

उत्तर 1

छु
बं में
ड़ी ल्लू
कें चु

NCERT Solutions  Class 3 EVS Chapter 1-डाल-डाल पर ताल-ताल पर (Dal-dal par tal-tal par) से जोड़ते हुए कहानी ‘खरगोश और कछुआ’ सुनाएँ। उन्हें प्रेरित करें कि वो भी कहानी सुनाये। मिल कर अपनी कोई नए कहानी बना सकते हैं।

पृष्ठ संख्या 6

जाढू उँगलियों का

प्रश्न 1 चित्र में देखो और बताओ कौन-से निशान उँगलियों के हैं और कौन-से अँगूठे के।

उत्तर 1 इस गतिविधि को करवाने से पहले यह कार्य कर लिया जाये। बहुत बेहतर होगा अगर चित्र पुस्तक से भिन्न हो। जरूरी नहीं कोई जानवर ही हो। कोई पैटर्न, डिजाईन या दीवारों पर उकेरी जाने वाली कृतियाँ हो सकती है। उसके बाद बच्चों से पूछा जाना परिणाम लायेगा। विद्यार्थियों में उत्सुकता भी जागृत होगी। विद्यार्थियों के चित्रों को कक्षा में चिपकाएँ।

पृष्ठ संख्या 7

आओ कुछ चित्र बनाएँ

प्रश्न 1 किसी ऐसे जानवर का चित्र कॉपी में बनाओ, जिसे तुमने देखा है। तीन बच्चे मिलकर एक चित्र बनाएँगे।

उत्तर 1 यह कार्य/गतिविधि 3-3 के समूह में करें।  एक कागज़ को पुस्तक की तरह तीन हिस्सों में मोड़ लो।

  1. एक बच्ची कागज़ के पहले भाग में किसी भी जानवर का मुँह बनाए। कागज़ मोड़ कर अपने चित्र को छुपा ले।
  2. दूसरी बच्ची बीच वाले भाग में किसी और जानवर का धड़ बनाए।
  3. तीसरी बच्ची आखिरी भाग में किसी अन्य जानवर के पैर बनाए।
  4. अब कागज़ को खोलो और चित्र देखो।

बन गया न मज़ेदार जानवर!

गतिविधि से आगे…

बने चित्र में रंग भर सकते हैं। इस विचित्र जानवर का नाम भी बच्चों से रखवाएं। यदि ऐसा सच में हो जाये तो क्या होगा? चर्चा की जा सकती है। NCERT Solutions  Class 3 EVS Chapter 1-डाल-डाल पर ताल-ताल लेख को रोचक बनाने के लिए गतिविधि सुझाएँ।

पृष्ठ संख्या 8

प्रश्न 1 किसी पेड़ के नीचे कुछ देर बैठो। ध्यान से देखो, पेड़ पर और उसके आस-पास कौन-कौन से जानवर हैं –

उत्तर 1

डालियों पर

बंदर कौआ गौरेया

पत्तों पर

मधुमक्खी मकड़ी टिड्डा

तने पर

चींटियाँ गिलहरी

झींगुर

ज़मीन पर

खरगोश गिरगिट

मोर

पेड़ के आस-पास

गाय भेड़

चूहा

प्रश्न 2 अब इन जानवरों को एक क्रम में लिखो – छोटे से बड़े तक।

उत्तर 2 1 चींटियाँ, 2 झींगुर, 3 मधुमक्खी, 4 मकड़ी, 5 टिड्डा, 6 गिरगिट, 7 चूहा, 8 गौरेया, 9 गिलहरी, 10 कौआ, 11 खरगोश, 12 मोर, 13 बंदर, 14 भेड़, 15 गाय

यहाँ ध्यान रखें क्रम बच्चे तय कर रहें हैं। कुछ जानवर लगभग बराबर हो सकते हैं। जानवरों से किस तरह का व्यवहार करना चाहिए? चर्चा करें।  

पृष्ठ संख्या 9

जिग्सॉ का खेल

जिग्सॉ में किसी चित्र के ऐसे टुकड़े होते हैं कि उनको मिलाने के लिए बहुत दिमाग लगाना पड़ता है।

अब तुम भी किसी जानवर के चित्र से जिग्सॉ बनाओ। चित्र को गत्ते पर चिपकाओ। गत्ते को जानवर के आकार में काटो। अब इस गत्ते को आड़े-तिरछे टुकड़ों में काटो। टुकड़े अलग-अलग करके अपने दोस्तों से जोड़ने को कहो। जानवर का नाम भी पूछो। पुस्तक में देख सकते हैं। चित्र को कैसे काटा गया है। जिग्सॉ चुनौतीपूर्ण हो। अच्छा कार्य करने पर प्रशंसा करना न भूलें।

यह भी अवश्य देखें: NCERT Solutions 5th EVS Chapter 3-चखने से पचने तक

NCERT Solutions  Class 3 EVS Chapter 1-डाल-डाल पर ताल-ताल पर  (Dal-dal par tal-tal par) यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें। – इसमें विद्यार्थी तथा परिस्थितिनुसार बदलाव आवश्यक है। पुस्तकों में विचार-विमर्श तथा चर्चा के लिए बहुत स्थान हैं। कक्षा से बहार जाने तथा समझने के अवसर भी प्रचूर है। उनका प्रयोग अवश्य करें क्योंकि यही उद्देश्य भी है। सिर्फ याद करना और लिखना पर्यावरण को समझने-समझाने का एकमात्र तरीका नहीं हो सकता। यह विषय प्रयोग  मांगता है। जिसे पूरा करना हमारी  जिम्मेदारी है।


Share

Leave a Comment