NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 बीज, बीज, बीज 

Share

अध्याय 5 बीज, बीज, बीज 

lesson-4 Beej, Beej, Beej  

कक्षा 5 पर्यावरण अध्ययन | आस-पास

NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 बीज, बीज, बीज  (beej,  beej beej  ) (CBSE) यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें। अध्याय में विद्यार्थी के अनुसार बदलाव जरूरी है। पुस्तकों में  चर्चा के लिए बहुत स्थान हैं। उनका प्रयोग अवश्य करें । यह उद्देश्य भी है। सिर्फ  लिखना पर्यावरण को समझने-समझाने का सही तरीका नहीं हो सकता। 

Page no. 42  NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 beej beej beej

चर्चा करो

प्रश्न 1  तुम्हारे घर में कौन-कौन-सी चीजें खाना बनाने से पहले भिगोई जाती हैं? और क्यों?

उत्तर 1 हमारे घर में मूँग, चना, राजमा, सोया बड़ी, आदि को बनाने से पहले भिगोया जाता है। भिगोने से ये वस्तुएं नर्म हो जाती हैं। जिससे पकने में कम समय लगता है। ईंधन भी बचता है।

प्रश्न 2 तुम्हारे घर में कौन-कौन-सी चीजें अंकुरित करके खाई जाती हैं? उन्हें अंकुरित कैसे किया जाता है? कितना-कितना समय लगता है?

उत्तर 2 मेरे घर में मूंग और चना को अंकुरित करके खाते हैं। इन्हें रात को पानी में भिगो देतें है। सुबह गीले कपड़े में बांध कर रखा जाता है। ये दालें लगभग 2 से 3 दिन में अंकुरित हो जाती हैं।

प्रश्न 3 क्या तुम्हें या तुम्हारे आस-पास किसी को डॉक्टर ने अंकुरित खाना खाने की सलाह दी है? क्यों?

उत्तर 3  हाँ, घर पर जब कोई बीमार हो जाता है तो उसे अंकुरित भोजन खाने को कहा जाता है। क्योंकि अंकुरित भोजन अधिक पौष्टिक होता है और आसानी से पच जाता है। इससे मरीज़ जल्दी ठीक होता है।

 

Page no. 43

करके देखो

याद है, कक्षा चार में जड़ों का जाल’ पाठ में तुमने बीज के प्रयोग किए थे। आओ, एक और प्रयोग करके देखो।

  • चने के कुछ दाने और तीन कटोरियाँ लो। पहली कटोरी में चने के चार-पाँच दाने लो और कटोरी को पानी से पूरा भर दो।
  • दूसरी कटोरी में भी उतने ही चने भीगी हुई रुई या कपड़े में लपेटकर रख दो। ध्यान रहे, कपड़ा या रुई सूखने न पाए।
  • तीसरी कटोरी में केवल चने ही रखो।
  • तीनों कटोरियों को ढंक दो।

दो दिन बाद देखो और लिखो। तीनों कटोरियों के चनों में क्या बदलाव दिखा?

1 कटोरी

2 कटोरी

3 कटोरी

क्या बीजों को हवा मिल रही है? नहीं हाँ हाँ
क्या बीजों को पानी मिल रहा है? हाँ हाँ नहीं
बीजों में क्या बदलाव आया? बीज गलने लगे अंकुरण होने लगा कोई बदलाव नहीं
क्या बीजों में अंकुरण हुआ?

 

नहीं हाँ नहीं

बताओ और लिखो

प्रश्न  1 किस कटोरी के बीजों में अंकुरण हुआ? इस कटोरी और बाकी कटोरियों के बीजों में क्या अंतर है?

उत्तर दूसरी कटोरी में अंकुरण हुआ। क्योंकि इसमे बीजों को हवा और पानी उचित मात्रा में मिला। पहली और तीसरी कटोरी में अंकुरण नहीं हुआ। क्योंकि पहली कटोरी में हवा नहीं मिली और तीसरी कटोरी में हवा और पानी दोनों नहीं मिले।

प्रश्न 2 गोपाल की माँ ने भिगोए हुए चने अंकुरित करने के लिए गीले कपड़े में क्यों बाँधे?

उत्तर गोपाल की माँ ने भिगोए चने इसलिए गीले कपड़े में बांधे ताकि उन्हें पानी और हवा उचित मात्रा में मिल सके। क्योंकि अंकुरण के लिए दोनों आवश्यक हैं।

 

Page no. 44

प्रश्न 1 साबुत मसूर को दलने से मैं दाल बनी हूँ, लेकिन मुझे तुम अंकुरित नहीं कर सकते! सोचो क्यों?

उत्तर साबुत मसूर को दलने से बीज उगने की अवस्था में नहीं रहा। इसलिए वह अंकुरित नहीं हो सकता।

चित्र बनाओ

प्रश्न 2 अपने अंकुरित बीज को ध्यान से देखो और उसका चित्र बनाओ।

उतर यह कार्य विद्यार्थियों को उनकी क्षमतानुसार अवलोकन के अधर पर स्वयं करने दें।

किसका पौधा कितना बड़ा?

प्रश्न एक गमला या चौड़े मुँह वाला डिब्बा लो। इसके नीचे छोटा-सा छेद करके, मिट्टी भरो। किसी एक किस्म के चार-पाँच बीज मिट्टी में दबा दो। कक्षा में सभी बच्चे अलग-अलग किस्म के बीज बोएँ। जैसे- सरसों, मेथीदाना, तिल, धनिया।

लिखो

बीज का नाम चना

किस दिन बोया (तारीख) 01 मई

अब जिस दिन तुम्हें छोटा-सा पौधा निकलता दिखे, उस दिन से अपनी तालिका भरो। पौधे को धागे से नापकर फिर स्केल से नाप लो।

 

तारीख पौधे की लंबाई (से.मी.) कितने पत्ते दिखे और कोई बदलाव
5  मई 2 मिलीमीटर अभी नहीं
6 मई 3 मिलीमीटर एक
7 मई 6 मिलीमीटर दो तना दिखने लगा
8 मई 7 मिलीमीटर दो तना और पत्ते साफ दिख रहे

नोट:- अनुमानित माप विद्यार्थी अपना बीज बो कर तालिका भरें। NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 बीज, बीज, बीज  (beej,  beej beej  ) 

Page no. 45

पता करो

प्रश्न 1 बीज बोने और छोटा पौधा दिखने में कितने दिन लगे?

उत्तर 1 8 दिन में पौधा दिखने लगा।

प्रश्न 2 पहले दिन और दूसरे दिन पौधे की लंबाई में कितना अंतर था?

उत्तर 2 पहले और दूसरे दिन पौधे की लंबाई में 1 मिलीमीटर का अंतर था।

प्रश्न 3 किस दिन पौधे की लंबाई सबसे ज्यादा बढी?

उत्तर 3 तीसरे दिन पौधे की लम्बाई अधिक बढ़ी।

प्रश्न 4 क्या हर दिन पौधे में से नया पत्ता या पत्ते निकले?

उत्तर 4 नहीं, हर दिन नया पत्ता नहीं निकला।

प्रश्न 5 क्या पौधे के तने में भी कुछ बदलाव आया?

उत्तर 5 हाँ, तना पहले बहुत बारीक था बाद में मजबूत होने लगा।

चर्चा करो

प्रश्न 1 किस बीज के पौधे को मिट्टी से बाहर आने में सबसे ज्यादा दिन लगे?

उत्तर 1 चने के बीज को मिट्टी से बहार आने में सबसे ज्यादा दिन लगे।

प्रश्न 2 किस बीज के पौधे को मिट्टी से बाहर आने में सबसे कम दिन लगे?

उत्तर 2 सरसों के बीज को मिट्टी से बाहर आने में अधिक दिन लगे।

प्रश्न 3 कौन-सा बीज उगा ही नहीं? क्यों नहीं उगा होगा?

उत्तर 4 तिल का बीज नहीं उग पाया। उसे उचित पानी, हवा, मिट्टी में दबाव नहीं मिला होगा।

प्रश्न 5 अगर तुम्हारा पौधा सूख गया या पीला हो गया तो सोचो ऐसा क्यों हुआ होगा?

उत्तर 5 यदि पौधा सूख गया है या पीला हो गया है तो उसे पानी सही मात्र में नहीं मिला होगा।

प्रश्न 6 पौधों को पानी न मिले तो क्या होगा?

उत्तर 6 पौधों को पानी न मिले तो वह धीरे-धीरे सूख जायेंगे।

दिल की बात बताओ

प्रश्न  1 बीज के अंदर क्या होता है?  

उत्तर 1 बीज के अन्दर एक नन्हा सा पौधा छुपा रहता है।

प्रश्न 2 छोटे से बीज से इतना बड़ा पौधा कैसे बनता  है?

उत्तर 2 बीज में छुपा बीज सही नमी, हवा और सूरज की रोशनी और गर्मी से पौधा बनता है। यही तो करिश्मा है कुदरत का।

 

Page no. 46

सोचो और कल्पना करो

प्रश्न 1 अगर पौधे चलते तो क्या होता? चित्र बनाओ।

उत्तर 1 अगर पौधे चलते तो मज़ा आ जाता। मैं पौधों के साथ खेलता।

पता करो

प्रश्न 2 क्या कुछ पौधे बिना बीज के भी उगते हैं?

उत्तर 2 हाँ, कुछ पौधे बिना बीज के उगते है। जैसे गुलाब, गन्ना और केला आदि।

 

Page no. 47

प्रश्न 1 दी गई तालिका एक चार्ट पर बनाओ और पूरी कक्षा के बच्चे मिलकर उसे भरें

बीज का नाम

रंग आकार (चित्र बनाओ )

ऊपरी सतह 

राजमा भूरा चित्र मुलायम
चना भूरा चित्र खुरदरा
मटर हरा चित्र मुलायम
जीरा सलेटी चित्र खुरदरा
सौंफ हरा चित्र खुरदरा
तरबूज भूरा चित्र मुलायम
गेहूँ हल्का पीला चित्र मुलायम
कद्दू पीला चित्र मुलायम

 नोट:- विद्यार्थी स्वयं बीजों को देख कर सारणी को पूरा करें। Exmp. NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 बीज, बीज, बीज  (beej,  beej beej  )

सोचो

प्रश्न 1 क्या इस सूची में सौंफ और जीरा भी हैं?

उत्तर 1 हाँ, सौंफ और जीरा दोनों आए हैं।

प्रश्न 2  इकट्टे किए गए बीजों में से सबसे छोटा और सबसे बड़ा बीज कौन-सा है?

उत्तर 2

छोटा बीज:- जीरा

बड़ा बीज:- राजमा

समूह बनाओ और लिखो

प्रश्न (क) जो बीज मसालों के रूप में इस्तेमाल होते हैं।

उत्तर (क) जीरा, सौंफ, धनिया, मेथी, अजवायन, और सरसों आदि।

प्रश्न (ख) जो सब्ज़ी के बीज हैं।

उत्तर (ख) कद्दू, लौकी, टमाटर, करेला, और भिन्डी आदि।

प्रश्न (ग) जो फलों से इकट्टे किए गए हैं।

उत्तर (ग) तरबूज, खरबूजा, सेब, संतरा, और चेरी आदि।

प्रश्न (घ) जो हल्के हैं (फेंक मारकर पता कर सकते हो)।

उत्तर (घ) धनिया, जीरा, सौफ, और सरसों आदि।

प्रश्न (ड) जो चपटे हैं।

उत्तर (ड) तरबूज, कद्दू, सूरजमुखी, और लौकी आदि।

प्रश्न (च) और समूह भी बनाओ। कितने समूह बना पाए?

उत्तर (च) निम्न समूह बना सकते है।

1 जो बीज खाए जा सकते हैं।

2 जो बीज हवा के साथ बिखर सकते हैं।

3 जिन बीजों से पौधे नहीं उगते।

4 जो बीज गोल है।

5 जिन बीजों में एक बीजपत्र होते हैं।

प्रश्न (छ) क्या तुम बीजों से खेलनेवाला कोई खेल जानते हो?

उत्तर (छ) हम बीजों को बोने और उनको उगता देखने का खेल खेलते हैं।

 

Page no 48

प्रश्न 1 चित्र 1 में देखो, ये बीज हवा की मदद से कैसे उड़ पाते हैं?

उत्तर 1 इन बीजों में रोयें होते हैं। जो इनको उड़ने में मदद करते हैं।

प्रश्न 2 क्या तुमने भी कोई बीज उड़ते हुए देखा है?

उत्तर 2 हाँ, देखा है।

प्रश्न 3 तुम्हारे यहाँ उसे क्या कहते हैं?

उत्तर 3 हमारे यहाँ उसे घास ही कहते हैं। डेनडेलियन, कपास, सेमल (शिम्बल) के बीज उड़ते हैं।

प्रश्न 4 अनुमान लगाओ कि तुम्हारे बीजों के समूह में से कितने बीज हवा से बिखरते होंगे।

उत्तर 4 जीरा और सौफ का बीज हवा में उड़ पायेगा। क्योंकि ये थोड़े हल्के होते हैं।

प्रश्न 5 चित्र 2 को ध्यान से देखो। यह बीज हवा में तो उड़ नहीं पाता। यह जानवरों की खाल और हमारे कपड़ों में अटक जाता है। है ना मुफ़्त में सैर! इन बीजों को देखकर तुम्हारे मन में क्या कुछ नया आइडिया आया?

उत्तर 5 इन बीजों को दूर से फेंक कर किसी निशाने पर चिपकाने का खेल, खेल सकते हैं।

 

Page no. 49

प्रश्न 1 चित्रों को देखकर अंदाजा लगाओ कि इनमें बीज किसकिस तरह से बिखर रहे हैं?

उत्तर 2 गिलहरी और पक्षी दूर जाकर फल खा लेंगे और बीज वहीँ छोड़ देंगे।नारियल का बीज पानी में बह कर दूर कहीं जमीन पर पहुँच कर उग जायेगा।

प्रश्न 3 पौधे स्वयं भी अपने बीजों को दूर छिटक देते हैं। जैसे- सोयाबीन की फलियाँ पककर सूख जाती हैं तो चिटककर बिखरने लगती हैं। उनकी आवाज़ सुनी है?

उत्तर 3 हाँ, सुनी है।

प्रश्न 4 सोचो, अगर बीज बिखरते नहीं, यानी एक ही जगह पड़े रहते, तो क्या होता?

उत्तर 4 अगर बीज न बिखरते तो जंगल के बारे में सोच भी नहीं सकते थे। पेड़-पौधे इतने कम होते कि जीना मुश्किल हो जाता।

प्रश्न 5 एक सूची बनाओ – बीज किस-किस तरह से बिखरते हैं।

उत्तर 5 बीज बिखरने के तरीके:-

 1 मानव द्वारा

2 जानवरों द्वारा

3 पानी के द्वारा

4 हवा द्वारा

5 बीजों का खुद चिटक कर बिखरना

6 कीड़े-मकौड़े द्वारा

7 पक्षियों द्वारा

प्रश्न 6 मिर्ची भारत में कहाँ से आयी?

उत्तर 6 मिर्ची पुर्तगाल देश के व्यापारी दक्षिण अमरीका से भारत लाए थे। अब यह सारे भारत में उगाई जाती है।

 

Page no. 50

हम क्या समझे

प्रश्न 1 यह चित्र रीना ने बनाया है- अपने अंकुरित बीज का। तुम्हें क्या लगता है इन बीजों को अंकुरित होने के लिए किन-किन चीजों की जरूरत हुई होगी? अपने शब्दों में लिखो। अगर उनकी ज़रूरी चीजों में से कोई न मिले तो रीना के बीज कैसे दिखेंगे? चित्र बनाकर दिखाओ।  

उत्तर 1 बीजों को अंकुरण के लिए मिट्टी, पानी, हवा, ऊष्मा और प्रकाश की जरुरत होती है। इनमें से कोई चीज़ न मिले तो पौधा या तो उग ही नहीं पायेगा या जल्दी ही सूख जायेगा।

नोट:- चित्र स्वयं बनाएँ।

प्रश्न 2 बीज किस-किस तरह बिखरते हैं? किन्हीं दो तरीकों के बारे में अपने शब्दों में लिखो।

उत्तर 2 बीज बिखरने के तरीके

1 मानव द्वारा:- हम खुद बीज एक जगह से दूसरी जगह ले जाते हैं। जैसे औषधीय, खाद्य, सजावटी पौधों के बीज ।

2 जानवरों द्वारा:- जानवर कुछ फल खा लेते है। बीज उनके पेट में पचते नहीं और मल के साथ जमींन तक पहुँच जाते हैं। कुछ बीज जानवरों में चिपक जाते है। धीरे-धीरे ये बीज अलग-अलग जगह छूटते जाते हैं।

अवश्य पढ़ें:-NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-4 खाएँ  आम बारहों महीने

 

NCERT Solutions class 5th EVS chapeter-5 बीज, बीज, बीज  (beej,  beej beej  ) (CBSE) यह सामग्री संदर्भ के लिए है। आप अपने विवेक से प्रयोग करें। अध्याय में विद्यार्थी के अनुसार बदलाव जरूरी है। पुस्तकों में  चर्चा के लिए बहुत स्थान हैं। उनका प्रयोग अवश्य करें । यह उद्देश्य भी है। सिर्फ  लिखना पर्यावरण को समझने-समझाने का सही तरीका नहीं हो सकता। 


Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *